Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Thursday, 15 September 2011

विश्व का एकमात्र हिन्दी माता का मंदिर





भारत भर में अपने देश की राष्ट्रभाषा हिन्दी के प्रति लोगों का लगाव अलग-अलग रूप में देखने को मिलता है, लेकिन ग्वालियर शहर की पहचान इस मायने में कुछ अलग है। यहां विश्व का एकमात्र हिन्दी माता का मंदिर बना हुआ है, जहां हिन्दी माता की प्रतिमा स्थापित है। 

नेपाल की राजधानी काठमांडू सहित देश के अन्य शहरों में भी ऐसे मंदिर खोलने की तैयारी चल रही है। 

ग्वालियर में अंतरराष्ट्रीय अभिभाषक मंच ने घोसीपुरा स्टेशन के पास सत्यनारायण की टेंकरी गेंडेवाली सड़क पर पांच साल पहले हिंदी माता का मंदिर स्थापित किया।

इस मंदिर के संचालक वरिष्ठ वकील विजय सिंह चौहान ने बताया कि इस मंदिर को बनाने के बाद शहर के कवियों, साहित्यकारों को इस मंदिर से जोड़ा गया, ताकि लोगों में जो मां के प्रति प्रेम होता है, वह इस मंदिर के प्रति भी जागृत हो। 

इस मंदिर के अंदर हाथों में वर्णमाला की पुस्तक लिए पृथ्वी और प्रकृति पर विराजमान मां की मूर्ति स्थापित है। 

मंदिर में दर्शन के लिए रोजाना 100 से अधिक लोग अपने परिवारों के साथ आते हैं।