Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Thursday, 2 February 2012

यदि आपकी शादी में बार-बार रुकावटें आ रही हैं

यदि आपकी शादी में बार-बार रुकावटें आ रही हैं या बात बनते-बनते बिगड़ रही है तो इसका कारण आपकी कुंडली में गुरु का अशुभ स्थिति में होना भी हो सकता है। यदि कुंडली में गुरु प्रतिकूल होता है तो व्यक्ति की शादी में रुकावटें आती हैं और शादी भी देरी से होती है। यदि आपके साथ भी यही समस्या है तो नीचे लिखे मंत्र का जप करने से आपकी यह समस्या दूर हो सकती है। मंत्र ऊँ बृं बृहस्पत्ये नम:। जप विधि - गुरुवार के दिन सुबह जल्दी उठकर नहाकर व साफ वस्त्र पहनकर सबसे पहले देवगुरु बृहस्पति की पूजा करें। - देवगुरु बृहस्पति को पीला वस्त्र, पीले फूल, चंदन, केसर व पीली मिठाई अर्पित करें। - इसके बाद एकांत में कुश के आसन पर बैठकर चंदन के मोतियों की माला से इस मंत्र का जप करें। - प्रति गुरुवार इस मंत्र की 11 माला जप करने से अति शीघ्र आपका विवाह हो जाएगा।