Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Saturday, 18 February 2012

धन अर्जित करने के लिए कर्म और उद्योग यानी परिश्रम ही श्रेष्ठ उपाय माना गया है

शास्त्रों में धन अर्जित करने के लिए कर्म और उद्योग यानी परिश्रम ही श्रेष्ठ उपाय माना गया है। व्यावहारिक जीवन में मेहनत का यही रूप नौकरी या व्यापार के रूप में दिखाई देता, जिसके जरिए कोई व्यक्ति धन बंटोरकर कर जीवन को सफल और सुखी बनाने का प्रयास करता है। वैसे, जीवन में खुशियां को पाने और बनाए रखने के लिए धन की अहम भूमिका होती है। अगर यहां व्यापार की बात करें तो कारोबार में निरंतर सफलता के लिए योजनाओं के साथ-साथ धन भी जरूरी होता है। हिन्दू धर्म में भगवान श्री गणेश को विघ्रहर्ता माना गया है, इसलिए नौकरी या व्यापार में धन लाभ या धन की कमी से उबरने के लिए ही विशेष गणेश मंत्र के जप का उपाय बताया गया है, जो प्रतिदिन घर से निकलने से पहले, दुकान खोलने या ऑफिस पहुंचने के बाद श्री गणेश को गंध, अक्षत, फूल, धूप व दीप चढ़ाकर जरूर करें। पूजा सामग्री न होने पर मानस या मन ही मन सामग्रियों को अर्पित करें। जानते हैं यह विशेष गणेश मंत्र- ॐ गणेश महालक्ष्यै नम: इस गणेश मंत्र का जप प्रतिदिन खासतौर पर बुधवार, चतुर्थी पर करना न केवल नौकरी या कारोबार में धन हानि से बचाता है बल्कि लगातार सफलता देने वाला माना गया है।