Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Thursday, 24 January 2013

दुकान में वास्तु

www.goswamirishta.com

दुकान आपके आय का मुख्य स्त्रोत होती है अत: इसका वास्तु सम्मत होना अतिआवश्यक है। इसके लिए निम्न बातों का ध्यान रखें-

1- दुकान में सदैव पूजा स्थल ईशान कोण में ही बनवाएं।

2- अलमारी या फर्नीचर दुकान के दक्षिण-पश्चिम भाग में और स्वामी को उत्तराभिमुख होकर बैठना चाहिए। ऐसा संभव न हो तो दक्षिण-पश्चिम या पूर्वाभिमुख होकर भी बैठ सकते हैं। 

3- अग्नि संबंधी उपकरण जैसे- विद्युत का मीटर, जनरेटर, इन्वर्टर आदि आग्नेय कोण में ही स्थापित करवाएं।

4- दुकान में पीने के पानी की व्यवस्था उत्तर-पूर्व या उत्तर-पश्चिम में करनी चाहिए।

5- उत्तर क्षेत्र कुबेर का स्थान माना जाता है जो कि धन वृद्धि के लिए शुभ है। यदि कोई व्यापारिक वार्ता, परामर्श, लेन-देन या कोई बड़ा सौदा करें तो मुख उत्तर की ओर रखें। इससे व्यापार में काफी लाभ होता है। 

6- व्यापारियों को कैश बॉक्स और महत्वपूर्ण कागज चैक-बुक आदि दाहिनी ओर रखना चाहिए। 

इन उपायों से धन लाभ तो होता ही है साथ ही समाज में मान-प्रतिष्ठा भी बढ़ती है।