Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Wednesday, 11 September 2013

दूर होती है सुस्ती, मिलती है ताकत !

www.goswamirishta.com


नाश्ते में एक कटोरी स्प्राउट्स के सेवन से हम पा सकते हैं पूरे दिन के लिए ऊर्जा और पोषण। दरअसल, स्प्राउट्स में पोषण दोगुना मात्रा में पाया जाता है। इसलिए इनके सेवन से व्यक्ति ज्यादा ऊर्जावान महसूस करता है। साथ ही इसमें तेल व मसालों की भी जरूरत नहीं पड़ती, इसलिए यह स्वास्थ्य के लिए और भी लाभप्रद है।

क्या-क्या मिलाएं:-

स्प्राउट्स में कई तरह के अनाज मिलाकर सेवन कर सकते हैं, लेकिन विशेष रूप से काला चना, मूंगफली, साबुत मसूर और साबुत मूंग आदि मिलाए जा सकते हैं। इन सभी में भरपूर पोषण होता है, जो व्यक्ति के लिए फायदेमंद है।

एजिंग होती है धीमी:-

स्प्राउट्स में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और प्रोटीन की मात्रा बहुत होती है। एंटी-ऑक्सीडेंट्स जहां एजिंग की प्रक्रिया को धीमा करते हैं, वहीं शुद्ध रूप से मिलने वाला प्रोटीन मसल्स को मजबूती और शेप दोनों देता है।

100 गुना ज्यादा एंजाइम्स:-

कच्चे फल और सब्जियों के मुकाबले स्प्राउट्स में एंजाइम्स की मात्रा 100 गुना ज्यादा होती है। एंजाइम्स शरीर के लिए कैटेलिस्ट का काम करते हैं, जो अन्य खाद्य पदार्थो से ज्यादा से ज्यादा विटामिन, मिनरल, फैटी व अमीनो एसिड एक्सट्रैक्ट करने में मदद करते हैं।

विटामिन्स में होती है वृद्धि:-

स्प्राउटेड अनाज में मौजूद विटामिन अपनी ओरिजिनल वैल्यू से 20 गुना ज्यादा बढ़ जाते हैं। शोध बताते हैं कि मूंग के स्प्राउट में विटामिन बी-1, 285%, विटामिन बी-2, 515% और नियासिन 256% तक बढ़ जाता है।

स्प्राउट्स का फायदा:-
स्प्राउट्स में ऑक्सीजन भरपूर मात्रा में रहती है, जिससे स्वस्थ रहने के लिए जरूरी ऑक्सीजन प्राप्त होती है।

पकाकर खाने की तुलना में स्प्राउटेड अनाज को कच्च ही खाना चाहिए। पकाने से उसके पोषक तत्व नष्ट होने की आशंका बढ़ जाती है और स्प्राउट्स खाने का फायदा नहीं होता।
Photo
Photo
Photo