Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Monday, 30 December 2013

रिश्तों में समस्याए

www.goswamirishta.com

यदि आपके बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेन्ड आपके प्रति ईमानदार नहीं हैं तो यह बात आपको सदमा पहुँचाने वाली हो सकती है। यदि एक साथी को यह पता चल जाता है की दूसरे साथी उनके प्रति ईमानदार नहीं हैं तो आमतौर पर यह एक बहुत ही तीव्र, भावनात्मक एवं गुस्से भरे विवाद की ओर अग्रसर होने लगता है।
आप इस रिश्ते का अन्त करने का निश्चय कर सकते हैं। पर आप इस बात पर भी सहमत हो सकते हैं की हालांकि, एक व्यक्ति ने गलती की है पर आप अपने रिश्ते को इतनी एहमियत देते हैं की आप इस रिश्ते में फिर भी रह सकते हैं। ऐसी स्थिति में यह उम्मीद न करें की चीज़ें तुरन्त पहले की तरह सामान्य हो जाएगीं। पुनः विश्वास हासिल करने में थोड़ा समय लगता है।
ईर्ष्या की भावना
हर किसी को कभी न कभी ईर्ष्या की भावना होती है, विशेषकर तब जब आप किसी के प्यार में हैं। ईर्ष्या का मुख्य कारण असुरक्षा की भावना है। आप स्वयं के लिए एवं अपने रिश्ते के लिए असुरक्षित महसूस करते हैं। और ईर्ष्या से बर्ताव करते हुए आप दूसरे व्यक्ति को दिखाना चाहते हैं की आप अन्य किसी भी व्यक्ति से ज़्यादा महत्वपूर्ण हैं।
दूसरे व्यक्ति पर हक जताना या पज़ेसिव होना
कभी कभी ईर्ष्या बहुत गम्भीर रुप ले लेती है। एक साथी इतनी ईर्ष्या करने लगते हैं की दूसरे साथी को लगता है की वे अब कुछ और कर ही नहीं सकते। केवल एक नज़र या एक शब्द या अन्य किसी व्यक्ति के लिए थोड़ा सा भी ध्यान, ईर्ष्या की चिंगारी को बढ़ा सकता है।
यदि आपको लगता है की आप ऐसा महसूस कर रहे हैं तो अपने साथी से इस बारे में बात करने की कोशिश करें और उन्हें समझाएं की आप ऐसा क्यों महसूस करते हैं। और यदि आपके साथी ईर्ष्या करते हैं तो याद रखें की यह सामान्यतः असुरक्षा की भावना के कारण होता है। पता लगाने की कोशिश करें की किस वज़ह से वे असुरक्षित महसूस करते हैं और उनके मानसिक तनाव को कम करने की कोशिश करें। इस समस्या का एक ही समाधान है, आपस में बात करना।
रिश्ते का अन्त करना
कुछ लोग किसी एक व्यक्ति से रिश्ता बनाते हैं, उनसे शादी करते हैं और सारा जीवन साथ रहते हैं। पर वास्तव में यह एक अप्राकृतिक मानव व्यवहार है। ज़्यादातर रिश्ते एक समय पर आकर खत्म हो जाते हैं।
  • क्या आप रिश्ते का अन्त करना चाहते हैं ?
अपने साथी को बताने का समय चुनें। उन पर चिल्लाएं नहीं या उनका अपमान न करें। कोशिश करें की आप सारा दोष अपने साथी को न दें - आम तौर पर कहानी के दो पहलू होते हैं, यदि किसी रिश्ते में कोई समस्या होती है, तो और इसमें दोनों साथियों का योगदान होता है। सिर्फ अपने साथी पर उंगली उठाने की बजाय, यह समझाने की कोशिश करें की आपको इस रिश्ते में क्या समस्या है।
  • क्या किसी और ने आपसे रिश्ता खत्म किया है ?
यदि आप किसी से प्यार करते हैं और वे आपसे रिश्ता खत्म कर लेते हैं तो बहुत बुरा लगता है। आप यह स्वीकार नहीं करना चाहते हैं की सब खत्म हो गया है। आप को दुख लग सकता है या गुस्सा आ सकता है। अस्वीकृत किया जाना दुख देता है। पर यदि आपका रिश्ता खत्म हो जाता है तो इसका मतलब यह नहीं है की आप एक व्यक्ति के रुप में असफल हो गए हैं। यह विश्वास करना कठिन लग सकता है पर समय के साथ आप फिर से बेहतर महसूस करने लगेंगें।
प्यार से जुड़ी चिंताएँ
यदि आप अपने रिश्ते को लेकर चिंतित हैं तो इसे अपने तक न रखें। इसके बारे में बात करें, प्राथमिक रुप से अपने साथी से। यदि आप परेशानियों को दिल में बंद कर के रखेंगें, तो आम तौर पर ये और तकलीफ़ दे सकतीं हैं। यदि आपको अपने साथी से बात करने की हिम्मत नहीं पड़ रही है तो किसी ऐसे व्यक्ति को तलाषें जो आपके नज़दीकी हों और आप उन पर विश्वास करते हों - जैसे आपके कोई अच्छे दोस्त, आपके बहन या भाई, माता या पिता।