Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Thursday, 17 January 2013

इलाहाबाद कुंभ मेला, हिंदी बोलते रशियन साधु

www.goswamirishta.com
पायलट बाबा के शिष्य रशियन साधुओं से उनका असली नाम पूछो तो बताते नहीं है, लेकिन मुस्कुराकर कहते हैं कि नाम में क्या रखा है। इनके गुरू महायोगी पायलट बाबा ने इन्हें हिंदी नाम दे रखे हैं। कोई लक्ष्मण है तो कोई मीसा और कोई सत्यम या आत्मानंद। इनकी खड़ी हिंदी सुनकर कोई भी आश्चर्यचकित रह जाता है।

पायलट बाबा के रूस दौरे में ये उनके सम्पर्क में आए तो मन में वैराग्य जागा। अब तो इन्हें योग-ध्यान और समाधि के अलावा कुछ समझ में नहीं आता।

मूल रूप से रूस के रहने वाले रशियन साधु लक्ष्मण 2010 में अखाड़े से जुड़े थे। उनका कहना है कि कुंभ दुनिया में सबसे बड़ा आध्यात्मिक आयोजन है जिसमें बड़ी संख्या में साधु-संत आते हैं। उनसे सीखने को बहुत कुछ मिल सकता है।

एक दूसरे रूसी साधु आत्मानंद हरिद्वार में 2010 में हुए कुंभ में भी आए थे। उन्होंने कहा कि पायलट बाबा के दस हजार से ज्यादा विदेशी शिष्य हैं जिन्होंने उनसे योग-ध्यान और समाधि की शिक्षा ली है।

बाबा की लोकप्रियता विदेशों में काफी ज्यादा है। योग और ध्यान पर उनका गजब का नियंत्रण है। आत्मानंद ने ठान लिया है कि अब वह हमेशा बाबा के ही साथ रहेंगे।