Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Friday, 18 December 2015

बांझपन ~ Infertility .... !

Infertility की समस्या पहले से अधिक बढी है - इसके कारण हो सकते हैं - तनाव - सब्जी - फलों में कृत्रिम उर्वरकों और कीटनाशकों का होना - शारीरिक श्रम का अभाव और fast food इत्यादि !
कारण कोई भी हो .... अगर कपालभाति प्राणायाम नियमित रूप से किया जाए तो इन सभी कारणों का प्रभाव भी बहुत कम होगा और infertility की समस्या भी शायद नहीं होगी !
महिलाओं में infertility का एक कारण poly cystic ovary हो सकता है - अगर F S H और L H हारमोन का असंतुलन हो तो poly cystic ovary की समस्या हो सकती है - इसके कारण periods भी असंतुलित होते हैं या तो अधिक होते हैं या बहुत कम या फिर होने ही बंद हो जाते हैं !
इस समस्या से मुक्ति पाने के लिए सर्वश्रेष्ठ है - प्रतिदिन कपालभाति प्राणायाम करें !
@* दशमूल क्वाथ के एक चम्मच को एक गिलास पानी में धीमी आंच पर पकाकर - जब वह आधा रह जाए तब पी लें - यह काढ़ा कुछ समय सुबह शाम लेते रहने से periods नियंत्रित हो जाते हैं !
*$ कपालभाति प्राणायाम के साथ यह काढ़ा भी लेते रहने से pregnancy की सम्भावना बहुत अधिक बढ़ जाती है !
@* अगर eggs कम बन रहे हों तो शिवलिंगी और पुत्र जीवक के बीजों का पावडर बराबर मात्रा में मिलाकर रख लें - यह पावडर एक एक ग्राम की मात्रा में सुबह शाम लेने से बहुत जल्द ही pregnancy हो जाती है !
* पुरुषों को sperm count कम होने की समस्या हो तो यौवनामृत वटी - चन्द्र प्रभावटी और शिलाजीत रसायन की 1 - 1 गोली लेते रहें व प्राणायाम करते रहें !
*$ अश्वगंधा - शतावर - सफ़ेद मूसली और कौंच के बीज - ये सब मिलाकर लेने से भी sperm count बढ़ते हैं !
xxxxx
$ कपालभाती :-
यह एक प्राणायाम का चमत्कारी प्रकार है जिसके कई सारे फायदे है !
# विधि :-
एक समान - सपाट और स्वच्छ जगह जहा पर स्वस्छ हवा हो वहा पर कपड़ा बिछाकर बैठ जाए !
आप सिद्धासन - पदमासन या वज्रासन में बैठ सकते है - आप चाहे तो आपको जो आसन आसान लगे या आप हमेशा जैसे निचे जमीन पर बैठते है उस तरह बैठ जाए !
बैठने के बाद अपने पेट को ढीला छोड़ दे !
अब अपने नाक से सांस को बाहर छोड़ने की क्रिया करे - सांस को बाहर छोड़ते समय पेट को अंदर की ओर धक्का दे !
श्वास अंदर लेने की क्रिया करने की जरुरत नहीं है - इस क्रिया में श्वास अपने आप अंदर लिया जाता है
लगातार जितने समय तक आप आसानी से कर सकते है तब तक नाक से श्वास बाहर छोड़ने और पेट को अंदर धक्का देने की क्रिया को करते रहे !
शुरुआत में 10 बार और धीरे धीरे बढ़ाते हुए एक बार में 60 बार तक यह क्रिया करे !
* चाहे तो बीच में कुछ समय का आराम लेकर भी इस क्रिया को कर सकते है !
$ सावधानिया :-
* कपालभाती सुबह के समय खाली पेट - पेट साफ़ होने के बाद ही करे !
* अगर खाना खाने के बाद कपालभाती करना है तो खाने के 5 घंटे बाद इसे करे !
* कपालभाती करने के बाद 30 मिनिट तक कुछ न खाए - आप चाहे तो थोड़ा पानी ले सकते है !
* शुरुआत में कपालभाती किसी योगा के जानकार के देखरेख में ही करे !
@* गर्भवती महिला - Gastric ulcer - Epilepsy - Hernia के रोगी इस क्रिया को न करे !
@* Hypertension - उच्चरक्तचाप और ह्रदय रोगी डॉक्टर की सलाह ले - इस क्रिया को करे !
$ ऐसे तो कपालभाती क्रिया के कोई दुष्परिणाम - side - effects नहीं है फिर भी कपालभाती करते वक्त चक्कर आना या जी मचलाना जैसी कोई परेशानी होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करे !
# लाभ :-
* शरीर को detox करता है !
* स्मरणशक्ति को बढ़ाता है !
* पेट की बढ़ी हुई अतिरिक्त चर्बी कम होने में सहायक है !
* कफ विकार नष्ट होते है और श्वासनली की सफाई अच्छे से होती है !
* गैस - कब्ज और अम्लपित्त - Acidity की समस्या को दूर भगाता है !
* शरीर और मन के सारे नकारात्मक तत्व और विचारो को मिटा देता है !
* यह कमर के आकार को फिर से सामान्य आकार में लाने में मदद करता है !
* कपालभाती करने वक्त पसीना अधिक आता है जिससे शरीर स्वच्छ होता है !
* चेहरे की झुर्रिया और आँखों के निचे का कालापन दूर कर चेहरे की चमक फिर से लौटाने में मदद करता है !
* इस क्रिया से रक्त धमनी की कार्यक्षमता बढाती है और बढ़ा हुआ cholesterol को कम करने में मदद होती है !
* वजन कम होता है - भारत में ऐसे कई लोग है जिन्होंने कपालभाती से अपना 30 से 40 किलो वजन कम किया है !
$ जिन लोगो का वजन सामान्य या controlled है वह भी कपालभाती के अन्य लाभ के लिए इस क्रिया को कर सकते है !
Jitendrasingh Rajput's photo.
Jitendrasingh Rajput's photo.