Adsense

लिखिए अपनी भाषा में

Friday, 18 January 2013

कृष्ण कथा सुनने से और कृष्ण नाम के कीर्तन से

www.goswamirishta.com

कृष्ण कथा सुनने से और कृष्ण नाम के कीर्तन से ही

भक्ति रूपी बीज दृढ़ स्थित होता है।

मेरा कान्हा मोहब्बतों के सौदे भी अजीब करता है.....

बस मुश्कराता है और दिल खरीद लेता है........

मस्त आशु की ओर से शुभ प्रभात.... ♥♥

भक्तियोग कुछ छोड़ने की सीख हमें नहीं देता

":वह केवल कहता है ,""""परमेश्वर में आसक्त हो जाओ """

और जो परमेश्वर के प्रेम में उन्मक्त हो गया है ,

उसकी स्वभावत नीच विषयों में कोई प्रवृति नहीं रह सकती

"प्रभो ,में तुम्हारे बारे में और कुछ नहीं जानता ,

केवल ईतना जानता हु की ,

तुम मेरे हो !तुम सुन्दर हो !आहा तुम अवर्निये हो !

तुम सौन्दर्य स्वरूप हो !"""♥'जय जय श्रीहरिः